गुलाब की महक
Created by

गुलाब की महक भी फीकी लगती है,
कौन सी खुश्बू मुज़मे बसा गयी हो तुम,
ज़िंदगी है क्या तेरी चहत के सिवा,
यह केसा ख्वाब आँखो को दिखा गयी हो तुम…

This Post has
16440 views
0 comment
© 2019 - हिंदीशायरी.com